Header Ads

Herbal Tea Benefits: मानसून में सर्दी-जुकाम और निमोनिया जैसी बीमारियों से बचने के लिए पिएं ये 4 आयुर्वेदिक चाय

Herbal Tea Benefits: बारिश का मौसम मन को सुकून देता है। लेकिन बारिश के मौसम में कई तरह के बैक्टीरिया और वायरस पनपने लगते हैं, जिनसे कई बीमारियों का खतरा हो सकता है। ऐसे में मानसून के मौसम में अच्छी डाइट लेना जरूरी है। मानसून में आयुर्वेदिक चाय पीना स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। आयुर्वेदिक चाय शरीर को स्वास्थ्य से जुड़ी कई सारी बीमारियों से बचाने में मदद करता है। आयुर्वेदिक चाय में एंटी बैक्टीरियल, एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटीवायरल गुण पाए जाते हैं, जो स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं को दूर करने में मदद करते हैं। आयुर्वेदिक चाय का सेवन करने से सर्दी-जुकाम, निमोनिया, शरीर की सूजन और बुखार को ठीक करने में मदद मिलती है। तो आइए जानते हैं मानसून के मौसम में कौन-कौन सी आयुर्वेदिक चाय का सेवन करने से सेहत को लाभ मिलते हैं

मानसून में पिएं ये 4 आयुर्वेदिक चाय

1. तुलसी की चाय
बारिश के मौसम में तुलसी की चाय का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। तुलसी में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-एजिंग और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं, बरसात के मौसम में सर्दी और खांसी से राहत दिलाने में मदद करते हैं। साथ ही ये इम्यूनिटी को बढ़ाने में भी मदद करती है।
यह भी पढ़े: मानसून में करें अजवाइन का सेवन, रहेंगे बीमारियों से कोसो दूर

2. अदरक की चाय
बारिश के मौसम में अदरक की चाय का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। अदरक में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी बैक्टीरियल, एंटीवायरल, एंटीफंगल और एंटी-इफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं, जो बरसात के मौसम में गले की खराश, सर्दी, खांसी, फ्लू से राहत दिलाते है। ये इम्यूनिटी को बढ़ाने में भी मदद करती है।

3. दालचीनी की चाय
बारिश के मौसम में दालचीनी की चाय का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। दालचीनी की चाय पीने से दिल की बीमारियों का खतरा कम होता है। साथ ही ये बैक्टीरिया और फंगल संक्रमण से भी लड़ती है। इसके अलावा ये वजन घटाने में भी मदद करती है।
यह भी पढ़े: रोजाना उल्टा चलने के फायदे जानकर आप भी हो जाएंगे हैरान, पैरों को मिलती है मजबूती

4. मुलेठी की चाय
बारिश के मौसम में मुलेठी की चाय का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। मुलेठी में प्रोटीन, कैल्शियम, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबायोटिक जैसे पोषक तत्व के गुण पाए जाते हैं, शरीर को अंदर से मजबूत बनाने के साथ-साथ बीमारियों से भी बचाते हैं। साथ ही ये कफ, खांसी और गले की खराश को दूर करने में मदद करती है।

डिस्क्लेमर- आर्टिकल में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल सामान्य जानकारी प्रदान करते हैं। इन्हें आजमाने से पहले किसी विशेषज्ञ अथवा चिकित्सक से सलाह जरूर लें। 'पत्रिका' इसके लिए उत्तरदायी नहीं है।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/obKJFvz

No comments

Powered by Blogger.