Header Ads

बढ़ते गुस्से की वजह हैं 6 फूड आइटम, चुटकियों में अपने एग्रेशन को इन टिप्स एंड ट्रिक्स से करें काबू

छोटी सी बात पर गुस्से में आपा खो देना एक गंभीर समस्या बनती जा रही है, लेकिन क्या आपको पता है कि इसके पीछे केवल परिस्थितियां ही नहीं, आपके खान-पान में शामिल कुछ खास चीजें और आपके अंदर मौजूद कुछ कमियां भी जिम्मेदार होती हैं?

गुस्सा आना एक सामान्य प्रक्रिया है, लेकिन जब ये हद से ज्यादा बढ़ने लगे तो आपको खुद पर ध्यान देने की जरूरत है। गुस्सा बर्दाश्त करने की क्षमता का कम होना एक गंभीर समस्या की ओर इशारा करती है। अगर आप भी अपने गुस्से से परेशान हैं तो आपको अपनी आदतों में बदलाव लाना होगा। खाने में कम से कम वो 6 चीजें जरूर त्यागनी होगी जो आपके गुस्से को बढ़ाने के लिए जिम्मेदार हैं। साथ ही कुछ टिप्स एंड ट्रिक्स से भी आप अपना गुस्सा आसानी से कंट्रोल कर सकते हैं।
चाइनीज और इंटीग्रेटिव मेडिसिन एक्सपर्ट एलिजाबेथ ट्राटनर ने अपनी रिसर्च में ये पाया था कि खाने में थर्मोडायनामिक एनर्जी होती है। जो मूड को स्विंग करने के लिए जिम्मेदार होती है। इससे इंसान में ऐसे हार्मोंस बनने लगते हैं, जिससे वह चिड़चिड़ा होने लगता है।

कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी की रिसर्च स्टडीज में भी यही बात सामने आई की ट्रांस फैटी एसिड वाली हाई डाइट लेने वालों में गुस्सा ज्यादा नजर आता है। ऐसा इसलिए क्योंकि, ट्रांस फैट, ओमेगा 3 फैटी एसिड के का प्रोडक्शन और उपयोग करने के लिए दिमाग की एबिलिटी में इंटरफेयर करता है। यही कारण है कि जब भी ओमेगा 3 की कमी के चलते ही उदासी, डिप्रेशन और चिड़चिड़ेपन की समस्या पैदा होती है।
तो चलिए जानें वो 6 फूड्स कौन हैं जिनके कारण गुस्सा और बढ़ता है
1. कॉफी
कॉफी पीने के अगर आप आदी हैं तो आपको अपनी ये आदत तुरंत बदलने की जरूरत है। आलस या थकान पर कॉफी पीने पर भले ही आप खुद को एनर्जेटिक फील करते होंगे, लेकिन इसमें मौजूद कैफिन आपके गुस्से के लिए ट्रिगर होता है। कई बार गुस्से के दौरान पी गई आपकी ये काफी ही एग्रेशन को बढ़ा देती है।

foods_that_trigger_anger.jpg

2. टमाटर
टमाटर की तासीर गर्म होती है और इसे खाना फायदेमंद भी होता है, लेकिन उन लोगों को इसका सेवन कम रकना चाहिए जिनमें गुस्से की प्रवृत्ति ज्यादा हो। पित्त दोष के चलते ये गुस्से को बढ़ाने वाली बन जाता है।
3. प्याज-लहसून और स्पाइसी फूड
प्याज-लहसून और स्पाइसी फूड तामसिक भोजन माने जाते हैं और आयुर्वेद में इसे गुस्सा और हिंसा बढ़ाने वाला माना गया है। इससे बचने की जरूरत है, क्योंकि इसकी तासीर पेट और दिमाग दोनों के लिए खतरनाक होती है।
4. डेयरी प्रोडक्ट और व्हीट
मिल्क प्रोडक्ट और व्हीट यानी गेहूं में मौजूद कैसीन गुस्सा बढ़ाने के लिए जिम्मेदार माना गया है। इसलिए इनके विकल्प सोया प्रोडक्ट या जौ-बाजरा और मक्के की रोटियों का प्रयोग ज्यादा करें।
5. जंक और ऑयली फूड
चाइनीज ट्रेडिशनल थेरेपी के अनुसार शरीर का हर अंग का असर हमारे दिमाग और इमोशन्स पर पड़ता है। लिवर के लिए क्रोध, फेफड़े के लिए दुःख, दिल के लिए डिप्रेशन-नींद न आना और किडनी से डर जुड़ा होता है। जंक फूड और ऑयली खाने इन सभी अंग के लिए सही नहीं होते। ऐसे में सबका रिएक्शन एग्रेशन में बदलता है। इसलिए इनसे दूर रहें।

6. स्मोकिंग-अल्कोहल से दूरी बनाएं
शराब, सिगरेट का सीधा असर आपके मूड-दिमाग पर पड़ता है। इससे बचना बहुत जरूरी है।
इन टिप्स एंड ट्रिक्स से करें गुस्से पर काबू
-गुस्सा आते ही सबसे पहले अपनी आंखें बंद कर गहरी सांस लें।
-खूशबू-जो भी खुशबू आपको पसंद है आप गुस्से के समय उसे सूंघ लें। सेकंड भर में आपका गुस्सा दूर हो जाएगा।
-ठंडा पानी- गुस्सा कम करने के लिए ठंडा पानी पीना और उल्टी गिनती गिनना शुरू कर दें।
-मेडिटेशन- मेडिटेशन करने की आदत डालें। ये आपके मन, दिमाग और दिल सबके लिए ऐसी दवा हैं, जिसके बाद आपको किसी मेडिसिन की जरूरत नहीं होगी।

(डिस्क्लेमर: आर्टिकल में सुझाए गए टिप्स और सलाह केवल आम जानकारी के लिए दिए गए हैं और इसे आजमाने से पहले किसी पेशेवर चिकित्सक सलाह जरूर लें। । किसी भी तरह का फिटनेस प्रोग्राम शुरू करने, एक्सरसाइज करने या डाइट में बदलाव करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।)



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/Xa8SAFn

No comments

Powered by Blogger.