Header Ads

Obstructive Sleep Apnea: क्या हैं ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया और इसके लक्षण

आज तरह-तरह की बीमारियां हमारे चारों तरफ फैली हुई हैं। और दुनिया भर में लोग किसी न किसी बीमारी की चपेट में आ रहे हैं। इसका एक बड़ा और अहम कारण आपकी जीवनशैली हो सकती है। अस्त-व्यस्त दिनचर्या और असंतुलित खानपान आपको कई गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं की तरफ धकेल सकता है। संपूर्ण सेहत के साथ-साथ अपने श्वसन तंत्र को स्वस्थ बनाये रखना भी बहुत जरुरी है। सांस लेने के लिए भी हम इसका ही सहारा लेते हैं। क्योंकि बिना सांस लिए आपका जी पाना संभव नहीं है। आज हम आपको सांस से जुड़ी हुई ही एक स्थिति के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसका नाम है ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया। तो आइये जानते हैं इस बीमारी और इसके लक्षणों के बारे में...

 

optimized-ovxa.jpg

ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया की स्थिति तब पैदा होती है, जब आपकी छाती से ऊपर का वायु मार्ग अवरुद्ध हो जाये और आपको सांस ऊपर की तरफ खींचने में काफी परेशानी मेहसूस होने लगे। इस दौरान आपकी चेस्ट मसल्स और डायफ्राम को फेफड़ों से ऑक्सीजन लेने में काफी दिक्कत होती है। साथ ही पूरे शरीर में भी ऑक्सीजन की आपूर्ति बंद हो सकती है। यह एक बहुत ही दर्दनाक स्थिति होती है, क्योंकि इंसान को इस वक़्त लगता है कि कोई उसका गला दबा रहा है। अचानक सांस रुक जाने से व्यक्ति हाँफने लगता है। लम्बे समय तक यही स्थिति बनी रहती है, तो सांस रुकने से व्यक्ति की मृत्यु तक हो सकती है। इस गंभीर बीमारी का जोखिम मोटापे के शिकार लोग और सही ढंग से नींद न लेने वाले लोगो को ज्यादा होता है।

622524932-h.jpg

यह भी पढ़ें: फिटनेस के लिए अपना सकते हैं ये प्री-वर्कआउट डाइट...

अब आइये जानते हैं ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया के लक्षण कौन-कौन से हो सकते हैं

ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया जैसी इस जानलेवा स्थिति के लक्षणों में तनाव, हर समय थकान रहना, एसिडिटी, उच्च रक्त चाप, दम घुटने के साथ अचानक नींद खुल जाना, दिन के समय ज्यादा नींद आना, रात में सोते वक़्त पसीना आना, सोकर उठने पर मुँह और गले में ड्राइनेस फील करना, चीजों को अक्सर भूल जाना आदि शामिल हो सकते हैं। इसलिए जिन लोगों का स्लीप पैटर्न बहुत ख़राब है और रात में खर्राटे आते हैं, उन्हें तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

the-11-most-common-causes-of-snoring.jpg

from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/GSBJtde

No comments

Powered by Blogger.