Header Ads

खराब मूड ही नहीं, वेट लॉस और इम्युनिटी को बेहतर बनाने में भी कारगर है ये आयुर्वेदिक कॉफी

ग्रीन टी या ग्रीन कॉफी के बारे में आपने जरूर सुना होगा, लेकिन आपके घर में मौजूद ब्लैक या ब्राउन कॉफी भी आयुर्वेदिक हो सकती हैं, ये सुना है? नहीं, तो चलिए आपको इस आयुर्वेदिक कॉफी के फायदे भी बताएं और ये भी बताएं की ये किन-किन बीमारियों में सबसे इफेक्टिव हैं। ये आयुर्वेदिक कॉफी स्वाद में भी अच्छी होगी और आपके स्वास्थ्य के लिए भी बेस्ट होगी। आयुर्वेदिक कॉफी के लिए आपको कुछ खास चीजों की जरूरत नहीं होगी, बल्कि आपके किचन में मौजूद सामग्री से ही ये आयुर्वेदिक कॉफी बन कर तैयार हो जाएगी। इसके लिए बस आपको दालचीनी, एक्स्ट्रा वर्जिन नारियल तेल और शहद की जरूरत होगी। तो चलिए जानें कि ये आयुर्वेदिक कॉफी किन बीमारियों में फायदेमंद है और इसे कैसे बनाएं।

आयुर्वेदिक कॉफी पीने के फायदे और बनाने का तरीका


1. शरीर की सूजन और फैट होगा दूर
अगर आपको वेट लॉस तेज करना है तो आपको दालचीनी और नारियल तेल के साथ शहद मिक्स कर कॉफी को पीना चाहिए। ब्लैक कॉफी का ये आयुर्वेदिक फार्मुला आपके मेटाबॉलिक रेट को बढ़ा देता है। इससे वेट लॉस में तेजी आती है।

2. एजिंग इफेक्ट को दूर करने लिए

अगर आपके चेहरे पर झुर्रियां नजर आ रही हैं या चेहरे में ग्लो की कमी है तो आपको ब्लैक कॉफी में दालचीनी डाल कर पीना चाहिए। साथ ही आप दालचीनी पाउडर के साथ कॉफी मिक्स कर चेहरे पर फेस पैक की तरह भी यूज कर सकते हैं। कॉफी में मौजदू एंटी-क्सीडेंट्स बढ़ती उम्र का असर कम करते हैं।

3. एनर्जेटिक बने रहने के लिए

कॉफी में मौजूद कैफीन जब दालचीनी और नारियल के तेल के साथ कॉफी में मिलाया जाता है तो इससे शरीर में उर्जा का स्तर बढ़ने लगता है। दिन में एक या दो कप से ज्यादा इसे बिलकुल न पीएं।

यह भी पढ़े - Black Coffee Health Benefits

4. कैंसर और स्ट्रोक का जोखिम होगा कम

आयुर्वेदिक कॉफी कैंसर और स्ट्रोक के खतरे का भी खतरा कम होता है। ब्लड में एंटी ऑक्सीडेंट बढ़ने से ब्लड सर्कुलेशन भी बेहर होता है और फ्री रेडिक्स से भी मुक्ति मिलती है।

5. इम्यून सिस्टम होता है बेहतर

दालचीनी और शहद के साथ नारियल का तेल कई तरह के आयुर्वेदिक तत्वों से भरा होता है। इससे सर्दी-जुकाम और एलर्जी जैसी समस्याएं दूर रहती हैं। जब इन्हें कॉफी के साथ पिया जाता है तो इम्युनिटी बेहतर बनती है।

6. कॉफी में स्ट्रेस फ्री बनाती हैं और जब इसमें दालचीनी मिलती है तो ये मूड को भी बेहतर बनाती हैं। डिप्रेशन या मूड स्विंग्स को दूर करने के लिए इसे पीना फायदेमंद होगा।


नोट- आयुर्वेदिक कॉफी को दिन में दो कप से ज्यादा न पीएं, अन्यथा ये कई बार नुकसान भी कर जाती है।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/ugeadtD

No comments

Powered by Blogger.