Header Ads

क्रोनिक इन्फ्लेमेशन के लक्षण और इन्फ्लेमेशन से लड़ने के लिए डाइट में शामिल करें ये चीजें

इंफ्लेमेशन यानि सूजन आपके शरीर के लिए बिल्कुल भी सही नहीं है। इससे आपको कई अन्य स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। क्रोनिक इंफ्लेमेशन की समस्या के कई कारण हो सकते हैं। जिसमें तनाव, वायरस, बैक्टीरिया और एंग्जायटी आदि शामिल हैं। क्रोनिक इंफ्लेमेशन को सही समय पर ठीक न किया जाए तो यह आपके शरीर को कई बीमारियों का घर बना सकता है। इसलिए क्रोनिक इंफ्लेमेशन की समस्या के लक्षणों को पहचाना जरूरी है। इसमें आपका आहार भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। तो आइए जानते हैं क्रोनिक इंफ्लेमेशन के लक्षण और सूजन की समस्या को कम करने के लिए डाइट में शामिल करें ये चीजें...

क्रोनिक इंफ्लेमेशन के लक्षण

1. जोड़ों में दर्द और अकड़न

2. सीने में दर्द होना

3. मुह में छाले होना

4. बुखार और थकान

5. त्वचा पर खुजली होना

6. पेट में दर्द का अनुभव होना आदि।

 

chronic inflammation symptoms and causes, chronic inflammation, chronic inflammation symptoms, chronic inflammation symptoms in body, chronic inflammation diet

एंटी-इनफ्लेमेटरी डाइट

1. आंवला खाएं
आंवला विटामिन सी और एंटी-ऑक्सीडेंट का एक अच्छा होता है। इसलिए संक्रमण के कारण होने वाली इन्फ्लेमेशन यानि सूजन को कम करने में आंवला खाना फायदेमंद हो सकता है। सुबह के समय आंवला खाने से इम्यून प्रतिक्रिया संतुलित होने के साथ ही टिशू भी स्वस्थ होते हैं।

chronic inflammation symptoms and causes, chronic inflammation, chronic inflammation symptoms, chronic inflammation symptoms in body, chronic inflammation diet

2. खूब पानी पियें
पानी ही जीवन है, यह बात कोई नहीं नकार सकता। लेकिन आपको बता दें कि पानी में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण भी भरपूर पाए जाते हैं। विशेषज्ञों की मानें तो पानी पीने से सूजन प्रतिक्रिया को संशोधित करने में मदद मिलती है। हर दिन एक वयस्क व्यक्ति को 4 लीटर पानी पीना ही चाहिए। बार-बार सादा पानी पीने की इच्छा न हो, तो आप अपनी इम्यूनिटी को स्ट्रॉंग करने के लिए पानी में पुदीना, अदरक, नींबू, हल्दी आदि चीजें मिला सकते हैं।

chronic inflammation symptoms and causes, chronic inflammation, chronic inflammation symptoms, chronic inflammation symptoms in body, chronic inflammation diet

3. अदरक
अदरक में मौजूद जिंजरोल नामक तत्व के कारण इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। पुरानी से पुरानी सूजन की समस्या में अदरक का सेवन काफी फायदेमंद हो सकता है। साथ ही अर्थराइटिस और ऑस्टियोअर्थराइटिस की समस्या में तो अदरक को डाइट में जरूर शामिल करें।

यह भी पढ़ें: इम्यूनिटी बढाने के लिए जरूर अपनाएं ये तरीके

chronic inflammation symptoms and causes, chronic inflammation, chronic inflammation symptoms, chronic inflammation symptoms in body, chronic inflammation diet

from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/fwyjSDk

No comments

Powered by Blogger.