Header Ads

डायबिटीज में मोरिंगा है रामबाण दवा, ब्लड शुगर तुरंत होगा कंट्रोल

सहजन एक जड़ी की तरह शुगर को कंट्र्रोल करने में मददगार साबित होता है। खास बात ये है कि सहजन की जड़ से लेकर छाल और फली से लेकर पत्तियां और फूल तक औषधिय गुणों से भरी हैं। हाई बीपी और डायबिटीज के रोगियों के लिए सहजन बहुत ही लाभदायक होता है। ऐसा इसलिए क्योंकि सहजन में एंटीहाइपरग्लाइसेमिक, एंटीऑक्सिडेंट, एंटी इंफ्लेमेटरी और लिपिड को कंट्रोल करने वाले औषधिय गुणों की भरमार होती है।

नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फोर्मेशन (NCBI) की रिपोर्ट की मानें तो सहजन की पत्तियों में पाया जाने वाला क्वेरसेटिन तत्व ही ब्लड शुगर को कम करने का काम करता है। वहीं सहजन के छाल, फली आदि में भी क्लोरोजेनिक एसिड होता है। इससे ब्लड शुगर मेंटेन रहता है और इंसुलिन को भी प्रभावित कर सकता है।

How to use Drumstick to control Daibetes

इस तरह करें सहजन का प्रयोग

1. सहजन के पत्तों, जड़, छाल या उसके बीजों का सेवन अलग-अलग तरीकों से कर सकते हैं। जड़ या छाल को सुखकर पाउडर बना लें। इसे सुबह एक या दो चमच्च गुनगुने पानी के साथ लें।
2. सजहन की पत्तियों को पीसकर छान लें और इसे पीएं। पत्तियों का काढ़ा भी बना सकते हैं।
3. सहजन की फलियों को सूप, सब्जी या जूस बना कर लें।
4. इसके पत्तों को आप कच्चा भी चबा सकते हैं। लेकिन ध्यान रहें कि इन सभी में किसी एक चीज का प्रयोग दिन में एक बार ही करें।

इन बीमारियों में भी सहजन फायदेमंद है


सहजन कब्ज, गैस्ट्रिटिस और अल्सरेटिव कोलाइटिस जैसे पाचन विकारों को रोकने में भी मदद करता है।

यह भी पढ़े - Garlic Health Benefits



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/LVKvM21

No comments

Powered by Blogger.