Header Ads

जानिए इन 5 सामान्य सी दिखने वाली गलतियों के बारे में जो डायबिटीज के पेशेंट्स ज्यादातर करते हैं

डायबिटीज की बात करें तो ये आजकल बहुत ही ज्यादा तेजी के साथ फैलती हुई बीमारी बन गई है, इस बीमारी का खतरा पहले बढ़ते उम्र के लोगों को अधिक रहता था वहीं आजकल कम उम्र के लोग भी इसका शिकार बनते जा रहे हैं। डायबिटीज की बीमारी यदि किसी व्यक्ति को होती है तो उसे अपने डाइट और लाइफस्टाइल के ऊपर खासतौर पर अधिक ध्यान देने कि जरूरत होती है ताकि बीमारी से दूर रहे।
इसलिए यदि आप भी डायबिटीज के मरीज हैं तो आपको इन कॉमन मिस्टेक्स के बारे में जानना चाहिए जो डायबिटीज के पेशेंट्स आमतौर पर करते हैं और इसका प्रभाव शरीर के ऊपर गलत पड़ता है।

रोजाना शुगर लेवल की जांच न करना
यदि आप शुगर के लेवल को नियंत्रण में रखना चाहते हैं तो इसकी जांच को समय-समय पर करवाने कि आवश्य्कता होती है, क्योंकि बिना जांच के ये पता लगाना बेहद मुश्किल होता है कि शुगर का लेवल शरीर में कितना है, इसलिए ब्रेकफास्ट,लंच और डिनर के बाद आप शुगर लेवल की जांच जरूर करें, ताकि ये आपके शुगर लेवल को नियंत्रण में रखने में सहायक साबित हो।

रोजाना एक्सरसाइज न करना
डायबिटीज के पेशेंट्स को रोजाना एक्सरसाइज जरूर करना चाहिए क्योंकि ये ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करके रखने में बहुत ही ज्यादा असरदार साबित होती है, एक्सरसाइज को रोजाना करने से बॉडी की इम्युनिटी दिन-प्रतिदिन बूस्ट होती जाती है वहीं ये ब्लड शुगर को भी बढ़ने नहीं देती है। डायबिटीज के पेशेंट्स को लगभग 15 मिनट रोजाना एक्सरसाइज जरूर करना चाहिए वहीं उन्हें रनिंग भी जरूर करना चाहिए। ये सारी चीजें यदि आप करते हैं तो नेचुरल तरीके से ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहेगा।

बिना रेस्ट किए हुए लगातार काम करना
आमतौर पर डायबिटीज के पेशेंट को आराम करने कि बेहद आवश्य्कता होती है, क्योंकि बिना रेस्ट किए हुए काम करने से शुगर लेवल हाई होने का खतरा काफी ज्यादा होता है वहीं इसका असर मांसपेशियों की सेहत के ऊपर भी पड़ता है, इसलिए तनाव को खत्म करने के लिए रेस्ट करना बेहद जरूरी होता है, ताकि शुगर का लेवल मेंटेन रहे।

बॉडी कंपोजिशन मशीन का न होना
जिन व्यक्तियों को डायबिटीज के जैसी गंभीर बीमारी होती है उन्हें अपने साथ इस मशीन को जरूर रखना चाहिए, क्योंकि आमतौर पर लोग वेट के ऊपर अधिक ध्यान देते हैं, लेकिन डायबिटीज के मरीजों को और भी चीजें ध्यान में रखने कि जरूरत होती है जैसे कि बीएमआई, बीएमआर, बॉडी का फैट आदि सारी चीजें, इसलिए डायबिटीज के पेशेंट्स को समय-समय पर बॉडी कंपोजिशन को चेक करने कि बेहद आवश्य्कता होती है।

यह भी पढ़ें
जानिए वजन कम करने वाले इन मिथ्स के बारे में जिनके उपर आपको विश्वास करना बंद कर देना चाहिए

जरूरत से ज्यादा वर्कआउट करना
यदि डायबिटीज के पेशेंट्स जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज करते हैं तो ये बहुत ही ज्यादा नुकसानदायक होता है, क्योंकि लगातार एक्सरसाइज करने से मांसपेशियों में दर्द बढ़ सकता है जिसका असर मांसपेशियों के साथ-साथ बॉडी के अन्य पार्ट्स के ऊपर भी पड़ता है, इसलिए वर्कआउट तो करें लेकिन एक लिमिट तक ही।

यह भी पढ़ें
डायबिटीज के पेशेंट हैं तो डाइट में जरूर शामिल करें इन पौधों के पत्तियों को, ब्लड शुगर लेवल रहेगा कंट्रोल में



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/8Ku4lNn

No comments

Powered by Blogger.