Header Ads

प्रेगनेंसी के दौरान हर महिलाओं को होती है ये 5 बड़ी समस्या, जान लें बचाव के उपाय

नई दिल्ली। शादी के बाद मां बनना हर महिलाओं का पहला सपना होता है लेकिन प्रेग्नेंसी के दौरान खानपान से लेकर हर छोटी चीजों पर ध्यान रखना काफी जरूरी होता है। क्योंकि इन दिनों शरीर में तेजी से हॉर्मोन्स परिवर्तन होते है। जिससे महिलाओं में चिड़चापन, भूख ना लगना उल्टी का होना, मूड़ स्विंग, बाल झड़ना, जैसी कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इतना ही नही इस दौरान डायबिटीज, यूटीआई जैसी समस्याओं के होने की संभावना भी बढ़ जाती हैं। ऐसे में हर महिलाओं को इससे बचाव के उपाय पता होने चाहिए। चलिए आज हम आपको प्रेगनेंसी में होने वाली 5 कॉमन प्रॉब्लम्स और उससे बचाव करने के टिप्स बताते हैं...

डायबिटीज

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं में सही खानपान ना होने से जेस्टेशनल डायबिटीज के खतरे बढ़ जाते है, जिसका सीधा असर बच्चे पर पड़ता है जिससे नवजात बच्चे में कुछ जन्मजात बीमारियां के होन की आशंका बढ़ जाती है। ऐसे में महीलाओं को चाहिए कि वह आसे समय में आलू, चावल, जंक फूड, मीठी चीजों का सेवन ना करें। और हर 3 महीने में OGTT (ओरल ग्लूकोस टोलरेंस टेस्ट) करवाएं।

यूटीआई

शरीर में प्रोजेस्ट्रेरोन की मात्रा बढ़ने की वजह से महिलाओं को इस समय यूटीआई इंफेक्शन का खतरा भी रहता है, जिसका सीधा असर हमारी किडनी पर पड़ता है। इस समस्या से निजात पाने के लिए महिलाओं को चाहिए कि वो ज्यादा से जड्यादा मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करें और सही डाइट लें।

प्री-एक्लेमप्सिया

शुरुआत के समय में कुछ महिलाओं को बीपी के बढ़ने समस्याए होने लगती है। जिसके कारण यूरिन के रास्ते प्रोटीन निकल जाता है। इसे प्री-एक्लेमप्सिया कहा जाता है, जो काफी गंभीर स्थिति है। इसके कारण चेहरे पर सूजन, पैरों में दर्द, ब्लड सर्कुलेशन में दिक्कत और शिशु के विकास में बाधा आने लगती है। ऐसे में महिलाएं रेगुलर चेकअप करवाती रहें और कोई भी दिक्कत आने पर तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।

पैरों और कमर में दर्द

प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं में पैर दर्द , कमर दर्द, मांसपेशियों में दर्द, सूजन और खिंचाव के कारण उठना-बैठना में मुश्किले आने लगती है। इसके बचने के लिए ज्यादा आराम करें और भारी सामान उठाने से बचें। इसके साथ ही सोने की पोजिशन भी सही रखे।

एनीमिया

प्रेगनेंसी के दौरान सही खानपान ना होने से महिलाओं के शरीर में खून की कमी होने लगती है। इससे ना सिर्फ बच्चे की ग्रोथ रूकती आती है बल्कि यह गर्भपात का कारण भी बन सकता है। ऐसे में बेहतर होगा कि आप डाइट में अनार, चुकंदर, हरी पत्तेदार सब्जियां, अंजीर, खजूर जैसे आयरन युक्त चीजें खाएं, ताकि शरीर में खून की कमी ना हो।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/2WG9Z15

No comments

Powered by Blogger.