Header Ads

हाथ व पैरों की अंगुलियों पर प्रेशर से साइनस की समस्या में मिलेगी राहत

साइनस ईएनटी (नाक, कान, गला) रोगों में से एक है। नाक के अंदर की सतह जो मस्तिष्क से जुड़ी रहती है, उसे साइनस कहते हैं। जब किसी कारण से साइनस में संक्रमण होता है, तो इसकी झिल्ली में सूजन आ जाती है, जिसे साइनोसाइटिस कहते हैं।
लक्षण: लगातार जुकाम, सिरदर्द, आंखों से पानी आना, नक्सीर, गले में खुश्की और आवाज भारी होना। समस्या ज्यादा होने पर जबड़े में दर्द, आलस, सुस्ती भी हो सकती है।
उपाय: हाथों व पैरों की अंगुलियों के पोरों के मध्य बिंदु पर प्रेशर देना चाहिए। हाथ के अंगूठे के पीछे और तर्जनी अंगुली के मिलान पर प्रेशर से भी आराम मिलता है। ऐसा 15-20 सेकंड तक करना चाहिए। 2-3 सप्ताह में आराम मिलने लगता है।
अपनाएं ये उपाय-
नाक के अंदर व नाभि में रात को सोने से पहले सरसों का तेल लगाएं। ठंडे पेय पदार्थ, कॉफी, चाय आदि ना पीएं। तंबाकू, गुटखे का सेवन ना करें। विशेषज्ञ की देखरेख में जलनेति और सूत्रनेति भी कर सकते हैं।
ध्यान रखें: साइनोसाइटिस की समस्या होने पर मुंह पर रूमाल बांधकर घर से निकलें, जिन चीजों से आपको एलर्जी है जैसे धूल, धुआं उनसे दूर रहें। रात को सोने से पहले व सुबह के समय गर्म पानी पीएं।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/2Zay5D7

No comments

Powered by Blogger.