Header Ads

लाइफ स्टाइल: शारीरिक रूप से सक्रिय 40 लाख से ज्यादा लोग हर साल मौत को हरा देते हैं-लैन्सेंट ग्लोबल हैल्थ रिपोर्ट

न्यूज ब्रीफ: हाल ही प्रकाशित एक हैल्थ रिसर्च में सामने आया कि हर साल कम से कम 39 लाख (3.9 Million) लोगों को समय से पूर्व मृत्यु (Early Death) के खतरे से बचाया जा सकता है बशर्ते वे शारीरिक रूप से सक्रिय (Physically Active) रहें। लैन्सेंट ग्लोबल हैल्थ (Lancent Global Health Report) में प्रकाशित इस शोध में जीवनशैली (Life Style) से जुड़े विभिन्न पहलुओं जैसे कि शारीरिक गतिविधियों की कमी, खराब आहारशैली, शराब पीना व धूम्रपान करना जैसी सेहत के लिए हानिकारक आदतें शामिल हैं। शोध की प्रमुख लेखक यूके के एडिनबर्ग विश्वविद्यालय (University of Eddinbergh) की शोधकर्ता डॉ. पॉल केली हैं।

लाइफ स्टाइल: शारीरिक रूप से सक्रिय 40 लाख से ज्यादा लोग हर साल मौत को हरा देते हैं-लैन्सेंट ग्लोबल हैल्थ रिपोर्ट

कोरोना महामारी (Corona Pandemic Covid-19) के बाद घर से काम (Work from Home) करने के दौरान हमारी शारीरिक गतिविधियों में अचानक ब्रेक लग गए हैं। ज्यादातर घर के आरामदायक माहौल में काम करते हुए खुद को व्यायाम और टहलने जैसी बेहद सामान्य शारीरिक दिनचर्या से भी दूर बनाए हुए हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपकी यह आदत आपके लिए जानलेवा साबित हो सकती है। यूके के एडिनबर्ग विश्वविद्यालय की शोधकर्ता डॉ. पॉल केली का तो कुछ ऐसा ही मानना है। उनका कहना है कि हर साल मरने वालों में करीब 40 लाख लोग ऐसे हैं जो आलस और खराब जीवनशैली के कारण अपनी जान से हाथ धो बैठते हैं। ये वे लोग हें जो न टहलते हैं, न किसी प्रकार की वर्जिश करते हैं न ही घर के कामों में हाथ बंटाते हैं। आलस और शून्य शारीरिक सक्रियता के कारण इन्हें मोटापा (Obesity), उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure), हृदय रोग (Cardiovascular Disease) और अन्य जानलेवा बीमारियां घेर लेती हैं। डॉ. केली का कहना है कि उनका शोध दरअसल डराने के लिए नहीं बल्कि लोगों को एक स्वस्थ दिनचर्या बनाने में मदद करने के लिए है।

लाइफ स्टाइल: शारीरिक रूप से सक्रिय 40 लाख से ज्यादा लोग हर साल मौत को हरा देते हैं-लैन्सेंट ग्लोबल हैल्थ रिपोर्ट

168 देशों के लोगों का अध्ययन
अपने अध्ययन को ज्यादा सटीक और वास्तविकता के करीब रखने के लिए अनुसंधान दल ने परीक्षण में 168 देशों के लोगों की सामान्य दिनचर्या और शारीरिक सक्रियता की जांच की। टीम ने हर साल मरने वाले लोगों में से शारीरिक सक्रियता की कमी के चचलते होने वाली मृत्यु का आंकड़ा भी निकाला। इससे उन्हें इस मामले में मौतों के अनुपात को रोकने में काफी मदद मिलेगी क्योंकि परीक्षण के निष्कर्ष को पढ़कर लोग पहले से ज्यादा खुद को शारीरिक रूप से सक्रिय रखने को प्रेरित होंगे।

लाइफ स्टाइल: शारीरिक रूप से सक्रिय 40 लाख से ज्यादा लोग हर साल मौत को हरा देते हैं-लैन्सेंट ग्लोबल हैल्थ रिपोर्ट

150 मिनट की गतिविधि जरूरी
डॉ. केली और उनके सहयोगियों ने 168 देशों के लिए पहले से प्रकाशित लोगों के स्वास्थ्य संबंधी आंकड़ों का विश्लेषण किया। आबादी के अनुपात पर विश्व स्वास्थ्य संगठन ने सप्ताह में कम से कम 150 मिनट की मध्यम-तीव्रता वाली एरोबिक गतिविधि करने का सुझाव दिया है। अगर 150 मिनट व्यायाम या हल्की वर्जिश करना संभव नहीं हो तो कम से कम 75 मिनट की हाई-इन्टेंसिटी वाली एक्क्सारसाइज या कोई भी दूारी शारीरिक गतिविधिए करनी चाहिए। अगर व्यायाम करने का मन नहीं है तो क्यारी खोदना, खेत में काम करना या पसीना निकल सके इतना श्रम घर के किसी भी काम के द्वारा अवश्य करें। डॉ. केली का कहना है कि शारीरिक रूप से निष्क्रिय लोगों की तुलना में सक्रिय लोगों के जल्दी मरने का जोखिम बहुत कम हो जाता है।

लाइफ स्टाइल: शारीरिक रूप से सक्रिय 40 लाख से ज्यादा लोग हर साल मौत को हरा देते हैं-लैन्सेंट ग्लोबल हैल्थ रिपोर्ट

15 फीसदी घट जाता है मृत्यु का जोखिम
एडिनबर्ग विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने पाया कि वैश्विक स्तर पर फिजिकल एक्टिविटीज के कारण समय से पहले होने वाली मौतों की संख्या औसतन 15 प्रतिशत कम थी। वहीं बात करें सक्रिय महिलाओं की तो यह क्रमश: 14 प्रतिशत और पुरुषों के लिए 16 प्रतिशत थी जो दुनियाभर में सालाना करीब 39 लाख लोगों की जान बचा सकती है।

लाइफ स्टाइल: शारीरिक रूप से सक्रिय 40 लाख से ज्यादा लोग हर साल मौत को हरा देते हैं-लैन्सेंट ग्लोबल हैल्थ रिपोर्ट

निष्कर्षों से यह भी पता चला है कि कम आय वाले देशों में औसतन 18 प्रतिशत सालाना मौतों की तुलना में उच्च आय वाले देशों में केवल 14 प्रतिशत लोगों को ही समय पूर्व मृत्यु के खतरे से बचाया जा पा रहा था। यह दर्शाता है कि हर साल कितने लोग सिर्फ आलस के कारण अपनी जान गंवा देते हैं। अध्ययनकर्ता टेसा स्ट्रेन ने कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के अध्ययनकर्ताओं से चर्चा करते हुए बताया कि लोग चाहे वह खेल हो या जिम या लंच अथवा डिनर के बाद तेज चलना, बस इतना कर लें तो भी इस खतरे को कम किया जा सकता है।

लाइफ स्टाइल: शारीरिक रूप से सक्रिय 40 लाख से ज्यादा लोग हर साल मौत को हरा देते हैं-लैन्सेंट ग्लोबल हैल्थ रिपोर्ट

from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/32UGIT7

No comments

Powered by Blogger.