Header Ads

tricolor diet: ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती तिरंगा डाइट

कलरफुल खाने से बॉडी को पूरी तरह न्यूट्रीएंट्स शरीर को मिलते हैं। रंगीन फल-सब्जियों में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स मिलते हैं जो शरीर को अंदर से मजबूत कर इम्युनिटी बढ़ाते हैं। जानते हैं तीन रंग वाले डाइट किस तरह से सेहत को फायदा पहुंचाता है।
केसरिया- बीटा कैरोटीन
केसरिया यानी नारंगी रंग डाइट में गाजर, पपीता, सेब, भुट्टा, कद्दू, टमाटर, ऑरेंज, नींबू आदि हैं। इनमें बीटा कैरोटिन और एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं। संतरों में विटामिन-सी और विटामिन-ए होते हैं। ये सेल्स के लिए भी फायदेमंद होता है। इनमें मौजूद कंपाउंड उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करते हैं और साथ ही डायबिटीज से सुरक्षा देने वाले भी माने जाते हैं।
सफेद- प्रोटीन-विटामिन ए
सफेद रंग के खाद्य पदार्थ जैसे मशरूम, गोभी, शलगम, मूली, लहसुन, डेयरी प्रोडक्ट्स, अंडे आदि हैं। इनमें कैल्शियम, पोटैशियम, आयरन और विटामिन ए अधिक होता है। इनसे इम्युनिटी भी बढ़ती है। शरीर की मजबूती के लिए भी अच्छा होता है। इससे शरीर में खून की कमी नहीं होती है। इन चीजों को हर उम्र में अधिक मात्रा में लेनी चाहिए।
हरा- आयरन अधिक
हरे फल-सब्जियों में फायटोकेमिकल्स होते हैं, जो पेट के लिए काफी अच्छे माने जाते हैं। पालक, मेथी, खीरा, लौकी, मूली-सरसों, चुकंदर-चौलाई की पत्तियों में फाइबर और आयरन ज्यादा होता है। शरीर और आंखों की कमजोरी को दूर करते हैं।
मेधावी गौतम, सीनियर डायटीशियन



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/2YdfaqB

No comments

Powered by Blogger.