Header Ads

HEALTH TIPS : इन लक्षणों से पहचानें पेप्टिक अल्सर

पेट के उपरी हिस्से में दर्द रहना और रात के समय ये दर्द अधिक बढ़ जाता है। खाना खाने के बाद ही पेट दर्द कम हो जाना, कुछ मामलों में पेट के भीतर जलन या अपच की स्थिति हो सकती है। कुछ गंभीर मामलों में पेट के भीतर छाले बन जाना या छोटी-छोटी फुंसी हो जाती हैं जिससे स्टूल या खांसी में ब्लड निकल जाता है। इसके साथ ही कुछ मामलों में खट्टी डकार, छाती में जलन, एसिड संबंधी समस्या होने बार-बार उल्टी होने की समस्या हो जाती है। पेट में लंबे समय से हल्का मीठा दर्द है तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।

पेट के गैस से सिर में दर्द नहीं
पेट में गैस की समस्या से पीड़ि़त लोगों की शिकायत होती है कि इस वजह से उन्हें सिर में दर्द रहता है। जबकि हकीकत ये है कि इन लोगों को डिस्पेप्सिया की समस्या है इसमें रोगी को गैस के साथ माइग्रेन की तकलीफ होती है और उसे लगता है कि गैस सिर में चढ़ गई है जबकि ऐसा नहीं होता है। ऐसी स्थिति में डॉक्टरी सलाह के साथ दवा का सेवन करने से ही आराम मिल सकता है।

इनका परहेज करने से होगा फायदा
पेप्टिक अल्सर के रोगी को मिर्च मसाला, तुली भुनी चीजें, जंक और फास्ट फूड, बांसी खाना, सिगरेट, शराब का इस्तेमाल पूरी तरह बंद कर देना चाहिए। ये चीजें पेट में गर्मी करती हैं जिससे संक्रमण के फैलने का खतरा और अधिक बढ़ जाता है। इस बीमारी की चपेट में आने के बाद हरी सब्जियों और मौसमी फल खाने से फायदा मिलता है।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/2EFWIA9

No comments

Powered by Blogger.