Header Ads

बारिश के मौसम में लें पौष्टिक सूप का आनंद, सेहत को होगा फायदा

बाजार में बिकने वाले रेडीमेड इंस्टेंट सूप लोग पसंद करते हैं लेकिन घर पर बनने वाले सूप की बात ही कुछ और है। आइए जानते हैं घर पर बने विभिन्न प्रकार के सूप के फायदों के बारे में।

मिक्स वेजिटेबिल : पालक, पुदीना, चुकंदर, लौकी, टमाटर, आंवला व अदरक से बने मिक्स वेजिटेबिल सूप मेें आयरन व फॉस्फोरस के अलावा विटामिन-बी, सी व डी पाया जाता है। यह पीलिया, लिवर, कब्ज, भूख बढ़ाने व आंखों के लिए लाभकारी है। चर्मरोग और शरीर में सूजन होने पर इसे न लें। अगर हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो तो इसे बनाते वक्त नमक का प्रयोग न करें।

लौकी : इसमें कार्बोहाइड्रेट, आयरन, विटामिन-बी व मिनरल्स पाए जाते हैं। हल्का होने के कारण यह पेट में भारीपन, भूख न लगना या लिवर संबंधी समस्या में लाभकारी है। इसके अलावा यह पित्तनाशक व खून बढ़ाने वाला होता है। इसे किसी भी व्यक्ति को दिया जा सकता है।

पिंड-आंवला : पिंड खजूर व आंवला से बने इस सूप में प्रचुर मात्रा में आयरन, मिनरल्स व विटामिन-सी और डी पाए जाते हैं। यह शारीरिक कमजोरी, हृदय संबंधी रोग व आंखों की कमजोरी को दूर करने में सहायक है। दस्त या बदहजमी होने पर इसे न लें।

सही तरीका : सूप को हमेशा भोजन के पहले लेना चाहिए। लेकिन अगर आप सुबह के समय इसे ले रहे हैं तो नाश्ते के बाद पिएं। खाली पेट सूप सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है। इसे लेने के पहले या बाद में एक घंटे तक दूध या चाय न पिएं। इससे पेट में एसिडिटी या किसी अन्य प्रकार की दिक्कत होने की आशंका रहती है।

ध्यान रखें: जहां तक संभव हो सूप को हमेशा ताजा बनाकर पिएं। एक दिन से ज्यादा रखा हुआ सूप न पिएं क्योंकि इसमें बैक्टीरिया उत्पन्न होने का खतरा रहता है। हमेशा गर्म सूप पिएं और इसे बनाते समय मक्खन, घी, तेल या किसी अन्य चिकने पदार्थ का प्रयोग न करें वर्ना वसा की अधिक मात्रा मोटापा बढ़ा सकती है।

टमाटर : प्रोटीन, फॉस्फोरस, सल्फर व विटामिन ए,बी,सी से भरपूर इस सूप में दूध व अंडे से भी अधिक मात्रा में आयरन पाया जाता है। यह मधुमेह, नेत्र की कमजोरी, कब्ज व एनीमिया में जैसे रोगों में फायदेमंद है। बुखार, दस्त व एलर्जी होने पर इसे लेने से परहेज करें।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/3ky5h0n

No comments

Powered by Blogger.