Header Ads

आहार चिकित्सा के जरिए डायबिटीज में होगा फायदा

रक्त में शुगर की मात्रा बढऩे को डायबिटीज कहते हैं। जानते हैं इसके कारण व उपचार के बारे में।

कारण: इंसुलिन हार्मोन का स्राव कम होने से, असंतुलित भोजन और व्यायाम की कमी।
लक्षण: बार-बार पेशाब आना और ज्यादा भूख लगना,घाव को भरने में समय लगना, वजन घटना और त्वचा पर फोड़े-फुंसी व एलर्जी।

आहार चिकित्सा: सुबह उठते ही 2-3 गिलास पानी बैठकर पीएं। इससे शरीर से विषैले पदार्थ निकल जाते हैं। एक घंटे बाद आधा कप गिलोय का जूस या दानामेथी पानी (आधा गिलास पानी में दो चम्मच दानामेथी को रात में भिगोकर, सुबह हल्का गुनगुना कर) पीएं। हल्का नाश्ता करें और हफ्ते में दो दिन करेले का जूस पीएं।

नेचुरोपैथी-
लंच में मोटे आटे की 2 रोटी, हरी सब्जी ( कम मिर्च-मसाले व नमक वाली) अंकुरित दानामेथी का सलाद व छाछ लें। डिनर में दो चपाती, सब्जी, मिक्स वेज सूप और सलाद खाएं। सोने से पहले एक गिलास फीका दूध जरूर लें।
व्यायाम: खाली पेट आधा घंटा खुली हवा में सैर करें और प्रशिक्षक की सलाह से योगा करें।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/2BT0ULG

No comments

Powered by Blogger.