Header Ads

दर्द, बुखार, माहवारी, पसीने की बदबू में फायदेमंद है केवड़ा

बुखार में फायदा -

केवड़े का रस 40 से 60 मिलीलीटर की मात्रा में बुखार पीडि़त को पिलाने से बुखार दूर होता है और शरीर में स्फूर्ति आती है।

कमर दर्द-
केवड़े के तेल से रोजाना कमर की मालिश करने से कमर दर्द में राहत मिलती है। केवड़ा का अर्क शरीर के हर तरह के दर्द खासतौर पर जोड़ों के दर्द से राहत देता है। रोजाना केवड़े के तेल से मालिश करने से गठिया जैसे रोग भी जड़ से समाप्त हो जाते हैं।

त्वचा रोग-
त्वचा रोग, फोड़े-फुंसी, दाद-खुजली में केवड़े के पत्तों को पीसकर लगाने से लाभ होता है।

माहवारी-
केवड़े की जड़ को पानी में घिसकर चीनी के साथ पीने से माहवारी में अधिक रक्त स्राव की परेशानी दूर होती है।

पसीने की बदबू-
केवड़े के पानी से नहानेे से जलन व पसीने की बदबू दूर होती है। गर्मियों में यह काफी लाभकारी होता है।

तनाव दूर करे-

केवड़ा तनाव दूर करने का सबसे प्रभावी और प्राकृतिक उपाय माना जाता है। केवड़ा के पत्तों में एंटी- स्ट्रेस एजेंट पाये जाते हैं जो कि हमारे तनाव और मानसिक असंतुलन को ठीक करते हैं।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/2EGLZFz

No comments

Powered by Blogger.