Header Ads

ये महिला बनाती हैं ऐसे डिजायन जो बूस्ट करे मेन्टल हेल्थ

अपने पति से अलग होने के बाद स्टीवी मैकफैडेन अवसाद में चली गईं। खुद को इससे बाहर निकालने के लिए इंटीरियर डिजायनर स्टीवी ने खुद के लिए एकऐसा घर बनाने के बारे मेंसोचा जो उन्हें सुकून दे और नई शुरुआत करने का हौसला भी। इससे पहले भी वे ट्रॉमा सेंटर, बेघरों के शेल्टर होम और बुजुर्गों के लिए ऐसे घरों का निर्माण कर चुकी थीं जहां रहने वाले अपने दुखों और चिंताओं से दूर अपनी जिंदगी को नए सिरे से जी सकें। उनका यही अनुभव उनके काम आया। उनके डिजायन किए घर और उसके इंटीरियरसे हम भी बहुत कुछ सीख सकते हैं। जैसे किसी अपने के चले जाने या जीवन मेंबुरी तरह फेल हो जाने के बाद नई शुरुआत के लिए कैसे शुरुआत करनी चाहिए।

ये महिला बनाती हैं ऐसे डिजायन जिससे मिलती है मानसिक शांति

-सबसे पहले तो यह विचार करें कि आप अपनी नई जिंदगी की शुरुआत कैसे और किन चीजों से करना चाहते हैं। किन बातों को अभी तक आपने जीवन में ज्यादा महत्त्व नहीं दिया था। अपने आने वाले कल और घर की कल्पना करें।
-घर में उन्हीं चीजों को रखें जिनसे आपका भावनात्मक जुड़ाव हो। अकेले जीवन की शुरुआत करने का दुख कभी कम नहीं होता लेकिन आप इसे कम और नियंत्रित कर सकते हैं।
-आपके गुजरे दौर की अच्छी यादें आपको नई जिंदगी में दुख ही देंगी इसलिए फोटो, वीडियो, बुक्स, फेम और ऐसी ही अन्यसजावट की चीजों को हटा दें।

ये महिला बनाती हैं ऐसे डिजायन जिससे मिलती है मानसिक शांति

-आपके लिए जीवन में जो रिश्ते महत्त्वपूर्ण हैं उन्हें ही अपनेजीवन में जगह दें और अपने ऊपर किसी को भी हावी न होने दें फिर चाहे वह निजी सलाह हो या आपकी बेचारगी को नियंत्रित करने वाले दोस्त और परिजन।
-अपनी निजी उपलब्धियों और साहसिक कामों की यादों से जुड़ी तस्वीरों और चीजों को अपने शयनकक्ष में जगह दें। नए लक्ष्य तय करें और वह करें जो अभी तक आप करने से डरती रही हैं।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/3a0B4Su

No comments

Powered by Blogger.