Header Ads

COVID-19: कोरोना मामलों का तेजी से पता लगाने के लिए बनाया एप

नई दिल्ली। स्मार्टफोन निर्माता वीवो ने गुरुवार को कहा कि उन्होंने बेंगलुरु स्थित आईटी स्टार्ट-अप अकुली लैब्स के साथ साझेदारी में कोविड-19 संक्रमण का तेजी से पता लगाने और इसके जोखिमों के बारे में जानकारी के लिए एक मोबाइल एप विकसित किया है। वीवो के कैमरा का उपयोग करके अकुली लैब्स ने 'लयफस' नामक एक एप्लिकेशन बनाने में प्रभावी रूप से काम किया है, जो एक कोरोना के लक्षणों वाले व्यक्ति के जोखिम मूल्यांकन में मदद कर सकती है।

अकुली लैब्स के संस्थापक सीईओ रूपम दास ने एक बयान में कहा, "हम वीवो इंडिया के आभारी हैं कि उन्होंने हमारे पायलट चरण के दौरान अपने स्मार्टफोन वीवो वाई 11 और वाई 91 मुहैया कराए, जिसने इस एप को बनाने में हमारी मदद की।"

यह तकनीक शारीरिक संकेतों को पकड़ने के लिए वीवो स्मार्टफोन प्रोसेसर और सेंसर की शक्ति का उपयोग करती है, जो कोविड-19 की तीव्रता का पता लगाता है।

कोविड-19 ने दुनियाभर में तकनीकी नवाचार (इनोवेशन) की सीमाओं को विस्तारित किया है, क्योंकि हर कोई इस महामारी से निजात पाना चाहता है और अपनी ओर से हर संभव प्रयास कर रहा है।

वीवो इंडिया में ब्रांड रणनीति के निदेशक निपुण मेरी ने आने वाले समय में कोरोना महामारी के बीच इस एप के सहायक होने का भरोसा जताया है।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/30g6Bgg

No comments

Powered by Blogger.