Header Ads

बैडमिंटन और टेनिस खेलने वाले स्विमर्स और जॉगर्स की तुलना में ज़्यादा जीते हैं

कोरोना संक्रमण (Covid-19) के महामारी (Pandemic) बनने के पीछे एक बड़ा कारण हमारा व्यायाम (Avoid Excercise) से दूर रहना भी है। देश-विदेश में डॉक्टर, स्वास्थ्य संगठन और सरकारी एजेंसियां लगातार हमें व्यायाम के लिए प्रोत्साहित करते रहे हैं बावजूद इसके लोग सप्ताह में कुछ घंटे भी व्यायाम करने के लिए नहीं निकालते। शारीरिक गतिविधियों के अभाव में हमारा शरीर बीमार और इम्यूनिटी कमजोर (Weak Immunity) होती चली गई जो कोरोना महामारी में संक्रमण से हार गई। लेकिन लॉकडाउन (Lockdown) और स्टे होम (Stay Home) के बाद लोगों में व्यायाम को लेकर गंभीरता आई है। अपनी शारीरिक गतिविधियों को बढ़ाने के लिए लोग खुद को अलग-अलग कामों में व्यस्त कर रहे हैं ताकि कम समय में ज्यादा पसीना बहा सकें। जनवरी में प्रकाशित एक अध्ययन का कहना है कि सप्ताह में 150 मिनट व्यायाम करने से शरीर संक्रमण से लड़ने में ज्यादा सक्षम होता है।

बैडमिंटन और टेनिस खेलने वाले स्विमर्स और जॉगर्स की तुलना में ज़्यादा जीते हैं

पैदल चलना पसंदीदा व्यायाम
अमरीका की सुजैन मालोन और न्यूयॉर्क विश्वविद्यालय (Newyork University) ने 'ट्रांसलेशनल बिहेवियरल मेडिसिन' में प्रकाशित शोधपत्र में बताया कि जो लोग सप्ताह में अलग-अलग व्यायाम करते हैं, उनका स्वास्थ्य दूसरों की तुलना में ज्यादा बेहतर होता है। यह निष्कर्ष 9 हजार से अधिक वयस्कों की 47 प्रकार की अलग-अलग शारीरिक-गतिविधियों (Physical Activities) के पैटर्न के आधार पर निकाला गया था। अध्ययन में शामिल 44 फीसदी उत्तरदाता लॉकडाउन से पहले किसी भी प्रकार का शारीरिक व्यायाम नहीं करते थे। वहीं 30 फीसदी ने पैदल चलने को सबसे पसंदीदा व्यायाम बताया। 9.5 फीसदी ने साइकिलिंग, 7.5 फीसदी ने डांस (Zumba), 7.4 फीसदी ने ट्रेडमिल वॉक और दौडऩा जबकि अन्य 6.9 फीसदी ने भारोत्तोलन को पसंदीदा व्यायाम बताया।

बैडमिंटन और टेनिस खेलने वाले स्विमर्स और जॉगर्स की तुलना में ज़्यादा जीते हैं

मिक्स एक्सरसाइज ज्यादा फायदेमंद
अध्ययन में सामने आया कि वॉकिंग अच्छा व्यायाम है लेकिन अगर इसे तैराकी (swimminf), स्ट्रेंथ ट्रेनिंग (Strength Training) और जुम्बा एक्सरसाइज के साथ किया जाए तो और भी बेहतर परिणाम मिल सकते हैं। इसके अलावा योग (Yoga), पिकल बॉल और बैलेंस या कोर एक्सरसाइज के साथ भी वॉकिंग को ज्यादा अच्छे रिजल्ट देने के लिए मिक्स किया जा सकता है। शोधकर्ताओं का कहना है कि प्रति सप्ताह तीन या तीन से ज्यादा अलग-अलग व्यायाम करने वाले एक जैसा व्यायाम करने वालों की तुलना में प्रति सप्ताह 2.30 घंटे ज्यादा व्यायाम कर पाते हैं।

बैडमिंटन और टेनिस खेलने वाले स्विमर्स और जॉगर्स की तुलना में ज़्यादा जीते हैं

महिलाएं 30 मिनट ही करतीं व्यायाम
वहीं अध्ययन में सामने आया कि घरेलू जिम्मेदारियों के चलते महिलाओं के पास पुरुषों की तुलना में प्रति सप्ताह 7 घंटे तक कम खाली समय होता है। यही वजह है कि पुरुषों के एक घंटे या उससे ज्यादा समय तक व्यायाम करने के मुकाबले महिलाओं के एक्सरसाइज में शामिल होने की संभावना कम होती है। वहीं जो महिलाएं व्यायाम करती भी हैं वे आम तौर पर एक बार में 30 से 40 मिनट ही व्यायाम करती हैं। हालांकि जो महिलाएं सप्ताह में औसतन 6 दिन व्यायाम करती थीं वे भी 2.30 घंटे ज्यादा व्यायाम करने में सफल रहीं। ऐसा इसलिए क्यूंकि वे सभी अपने रुटीन की पाबंद और अनुशासित थीं।

बैडमिंटन और टेनिस खेलने वाले स्विमर्स और जॉगर्स की तुलना में ज़्यादा जीते हैं

ये महत्त्वपूर्ण बातें भी शामिल थीं
-जितनी ज्यादा अलग-अलग एक्सरसाइज करेंगे उतना ज्यादा व्यायाम करने के लिए प्रेरित होंगे
-एरोबिक्स और स्ट्रेंन्थ ट्रेनिंग करने वालों में केवल कार्डियो या स्ट्रेंथ ट्रेनिंग करने वालों की तुलना में मोटापा होने की आशंका कम होती है
-अलग-अलग व्यायाम से चोटिल होने का जोखिम भी कम हो जाता है। एक्सपट्र्स का कहना है कि हमें व्यायाम करते समय चोट लगने का कारण एक ही तरह की एक्सरसाइज को लगातार बार-बार दोहराने के कारण होती है। जैसे धावकों में घुटने की और तैराकों के कंधे या टेनिस एल्बो की परेशानी आम है।

बैडमिंटन और टेनिस खेलने वाले स्विमर्स और जॉगर्स की तुलना में ज़्यादा जीते हैं

-अलग-अलग व्यायाम शरीर के अलग-अलग हिस्सों को प्रभावित करते हैं। स्विमिंग और साइकिलिंग से कार्डियो और स्ट्रेंथ एक्सरसाइज जैसे फायदे मिलते हैं लेकिन वजन उठाने जैसी एक्टिविटी न होने के कारण ये हड्डियों पर वे कोई खास प्रभाव नहीं डालते। इसलिए हड्डियों की मजबूती के लिए स्ट्रेंथ ट्रेनिंग या बास्केटबॉल जैसे हाई-इम्पैक्ट एक्टिविटीज (High Impact Activities) को भी अपने रुटीन में शमिल करें।
-ऐसे ही योगा और जेंटल स्ट्रेचिंग से मेंटल हैल्थ अच्छी होती है। वहीं प्राकृतिक वातावरण में हाइकिंग करने से स्वास्थ्य में सुधार होता है। इससे 18 से 67 फीसदी तक कैलोरी बर्न करने में मदद मिलती है।
-एक शोध में सामने आया कि जो लोग एक्सरसाइज के तौर पर बैडमिंटन और टेनिस खेलते हैं उनकी जीवन प्रत्याशा (Life Expectency) स्विमर्स और जॉगर्स की की तुलना में बेहतर होती है। वहीं एक अन्य शोध के मुताबिक टीम स्पोट्र्स से मेंटल हैल्थ मजबूत होती है।

बैडमिंटन और टेनिस खेलने वाले स्विमर्स और जॉगर्स की तुलना में ज़्यादा जीते हैं

from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/2OQBeCd

No comments

Powered by Blogger.