Header Ads

कोरोना जैसी महामारी से बचने के लिए सुरक्षित देशों की नागरिकता ले रहे संपन्न लोग

कोरोना वायरस (Covid-19) के संक्रमण ने पूरी दुनिया को महामारी (Pandemic) का वो रूप दिखा दिया है कि लोग अभी से ऐसी किसी भी दूसरी महामारी का सामना करने की तैयारी में जुट गए हैं। खासकर दुनियाभर के अमीर और साधन संपन्न वर्ग ने खुद को कोरोना के बाद की किसी भी महामारी से सुरक्षित रखने और जीवन पर पडऩे वाले इसकेे प्रभाव से बचने की तैयारी शुरू कर दी है। लॉकडाउन (Lockdown) या महामारी के तेजी से फैलने पर दूर-दराज के किसी सुरक्षित समुद्री तट (Safe Sea Beaches) या खुद को सबसे पहले कोरोना मुक्त घोषित करने वाले न्यूजीलैंड (Newzealand) जैसे देशों में जाने की योजना बनाई है। इसके लिए अभिजात वर्ग के ये धनवान महामारी के दौरान विशेषाधिकारों (Special Rights) के लिए भुगतान (Payment) करने को भी तैयार हैं।

कोरोना जैसी महामारी से बचने के लिए सुरक्षित देशों की नागरिकता ले रहे संपन्न लोग

निवेश के बदले नागरिकता: Citizenship on Investment Ground
कोरोना महामारी के बाद बहुत से देशों में ऐसी योजनाएं बनाई जा रही हैं जो लोगों को निवेश के आधार पर उस समय की महामारी से कम त्रस्त या प्रभावित देश में नागरिकता देने के लिए काम करेंगे। दुनिया की सबसे बड़ी नागरिकता और निवास संबंधी सलाह देने वाली फर्म हेनले एंड पार्टनर्स (Henlay & Partners) जैसी विशेष कंपनियों की मदद से अमीर नागरिक मेजबान देशों में निवेश के बदले नागरिकता (Citizenship) या स्थायी निवास की गारंटी हासिल करेंगे। किसी वायरल संक्रमण और अचानक लॉकडाउन का खतरा होने पर कंपनी उन लोगों की मदद करेगी जो अपनी जेबें ढीली कर एक सुरक्षित ठिकाने पर जाना चाहेंगे।

कोरोना जैसी महामारी से बचने के लिए सुरक्षित देशों की नागरिकता ले रहे संपन्न लोग

जैसा निवेश वैसी सुविधाएं
उदाहरण के लिए, यदि आप न्यूजीलैंड में 3 से 10 मिलियन डॉलर(30 लाख से 1 करोड़) का निवेश करते हैं तो आप वहां रहने, बिजनेस करने और अध्ययन करने का अधिकार प्राप्त कर सकते हैं। हालांकि यह निवेशक के रूप में आपके द्वारा चुने गए रेजिंडेंट वीजा (Type of Resident Visa) के प्रकार पर निर्भर करता है कि आपको किस तरह के नागरिकता अधिकार (Cirizen Rights) मिलेंगे। ऐसे ही माल्टा (Malta) में लगभग 1.2 मिलियन यूरो (10.4 लाख) की संपत्ति खरीदते हैं तो आपको विवाहित युगल की नागरिकता (Married Couple Citizenship) हासिल कर सकते हैं।

कोरोना जैसी महामारी से बचने के लिए सुरक्षित देशों की नागरिकता ले रहे संपन्न लोग

हेनले कंपनी के सेल्स प्रमुख डॉमिनिक वोलेक का कहना है कि हाल के महीनों में उनके नागरिकता संबंधी कार्यक्रमों (Citizenship Programme) के बारे में जानकारी लेने वालों की संख्या तेजी से बढ़ी है। इतना ही नहीं लोग इन प्रोग्राम्स पर वास्तव में इन्वेस्ट कर रहें हैं। ताकि वे और उनका परिवार सुरक्षित रहें। इस साल के शुरुआती चार महीनोंमें कंपनी के कार्यक्रमों के बारे में जानकारी लेने वालों की संख्या में बीते साल की तुलना में 49 फीसदी का उछाल आया है। वहीं 22 फीसदी वृद्धि ऐसे लोगों की भी हुई जो नए देश में नागरिकता और निवास संबंधी अधिकारों के लिए आवेदन करना चाहते हैं। ऐसे ही पुर्तगाल में भी 'रेजिडेंस-बाय-इन्वेस्टमेंट' (Residence by Investments) ट्रेंड में वृद्धि हुई है।

कोरोना जैसी महामारी से बचने के लिए सुरक्षित देशों की नागरिकता ले रहे संपन्न लोग

इन जगहों की नागरिकता की मांग ज्यादा
-कैरिबियन द्वीप समूह (बेहतर सेल्फ आइसोलेशन सुविधा)
-ऑस्ट्रेलिया (समय पर नियंत्रण के कारण)
-न्यूजीलैंड (कोरोना से लडऩे में बेहतर प्रदर्शन)
-माल्टा (कोरोना से कम मौतों के कारण)
-यूरोपीय देश (बेहतर चिकित्सा सुविधाओं के कारण)

-पुर्तगाल (निवेश के बेहतर अवसर और इंफ्रास्ट्रक्चर के कारण )



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/3jJFXDZ

No comments

Powered by Blogger.