Header Ads

सिरदर्द और माइग्रेन से छुटकारे के लिए रखें इन बातों का ध्यान

हमारी बदलती लाइफस्टाइल की वजह से सिरदर्द खास तौर पर माइग्रेन की समस्या आम हो गई है। तनाव, पर्याप्त नींद न लेना, अधिक शोर, फोन पर ज्यादा देर बात करना, जरूरत से ज्यादा सोचना, थकावट, सिर में रक्तप्रवाह कम होना जैसे कई कारणों से सिरदर्द की समस्या लोगों में बढ़ती जा रही है। कई लोगों को हफ्ते में एक या दो बार माइग्रेन के दर्द की शिकायत भी रहती है।

मेडिटेशन-प्रतिदिन दो बार 10-20 मिनट ध्यान करने से शरीर व मन दोनों को आराम मिलता है। सिर में रक्तप्रवाह बढ़ता है। बढ़ा हुआ रक्तसंचार सिरदर्द की आशंका कम करता है। हस्तपादासन, सर्वांगासन व हलासन रक्तसंचार बढ़ाने में मददगार हैं।

प्राणायाम-

शरीर में ऑक्सीजन की कमी भी सिरदर्द का कारण है। ऐसे में गहरी सांस लें। इससे राहत मिलेगी। नाड़ी शोधन, भ्रामरी और कपाल भाति भी कर सकते हैं।

डिहाइड्रेशन से बचें -
शरीर में पानी की कमी से भी सिरदर्द होने लगता है। यही वजह है कि कई बार थोड़ी-थोड़ी देर में पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से भी सिर का दर्द ठीक हो जाता है।

स्ट्रेचिंग -
कई बार मसल्स में खिंचाव से भी सिरदर्द होता है। एक ही स्थिति में लगातार व लंबे समय तक बैठे रहने से गर्दन की मसल्स में तनाव होता है। थोड़े-थोड़े अंतराल पर स्ट्रेचिंग करेंं।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/3fhVk3S

No comments

Powered by Blogger.