Header Ads

'अल्ट्रावायलेट हेल्पर डिसिन्फेक्शन हेल्पर 15 मिनट में कमरे को करेगा संक्रमण मुक्त, जानें इसके बारे में

कानपुर। देश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को रोकेने के लिए भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) कानपुर ने शुद्ध 'अल्ट्रावायलेट हेल्पर डिसिन्फेक्शन हेल्पर' विकसित किया है। यह कमरे को महज 15 मिनट में संक्रमण मुक्त करने में सक्षम है।

इसका प्रयोग मुख्य रूप से घर के कमरों, क्वारंटाइन सेंटरों, अस्पताल, मॉल, स्टोर रूम को विसंक्रमित करने के लिए प्रयोग किया जा सकता है।

आईआईटी कानपुर इमेजिनरी लेबोरेटरी में बने शुद्ध हैंडी अल्ट्रावॉयलेट डिसिन्फेक्शन हेल्पर को स्मार्ट फोन द्वारा संचालित किया जाएगा। जिससे 15 मिनट में अपने पूरे कमरे में हर रखे समान को विसंक्रमित किया जा सकता है।

इसे प्रो़ ज़े रामकुमार, डा. अमनदीप सिंह और शिवम सचान ने मिलकर तैयार किया है। डा़ अमनदीप ने बताया कि कोरोना महामारी के चक्कर में लोग समान को छूने से डरते हैं। वहीं तरल डिसिन्फेक्शन के काफी नकारात्मक प्रभाव हैं। ऐसे में इमेजिनरी लेबोरेटरी, आई़ आई़ टी कानपुर ने शुद्घ (स्मार्टफोन संचालित हैंडी अल्ट्रावयलेट डिसिन्फेक्शन हेल्पर) नामक एक सैनिटाइजिंग उत्पाद विकसित किया है।

उन्होंने कहा कि शुद्घ को स्मार्ट फोन के माध्यम से चलाया जा सकता है। इसे ब्लूटूथ टेक्नोलॉजी से चलाया जा सकता है। इसमें 6 लाइट लगी है। इसके उपकरण को 360 डिग्री तक घुमाया जा सकता है। रूम के हिसाब से लाइट उपयोग कर सकते हैं। अगर रूम बड़ा है तो ज्यादा लाइटों का उपयोग किया जा सकता है। यह महज 15 मिनट में कमरे को विसंक्रमित कर देगा। इसका उपयोग अस्पताल, होटल, मॉल, कार्यालय, स्कूल में संक्रमण को रोकने में प्रयोग किया जा सकता है।

प्रो़ जे राजकुमार ने बताया कि एक एंड्राइड एप्लिकेशन इंस्टल करके आप अपने उपलब्ध स्मार्टफोन का उपयोग करके उत्पाद के ऑन -ऑफ , गति और स्थान को दूरस्थ रूप से नियंत्रित कर सकते है। शुद्घ में 15 वाट की छह यूवी लाइट्स हैं जिन्हें व्यक्तिगत रूप से दूर से ही नियंत्रित की जा सकती है। प्रारंभिक परीक्षण ने साबित कर दिया है कि अपने पूर्ण अपरेशन में डिवाइस लगभग 15 मिनट में 10 वर्ग फुट के कमरे को विसंक्रमित कर सकता है।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/38UboGR

No comments

Powered by Blogger.