Header Ads

स्वास्थय और सेहत से जुड़े वे 12 लक्षण जो ग्रे बाल होने का इशारा करते हैं

केवल जेनेटिक्स ही ग्रे बाल होने का एक मात्र कारण नहीं हैं। अनुवांशिक कारणों के इतर भी ऐसे बहुत से लक्षण और तरीके हें जिनसे पता लगाया जा सकता है कि आप के बाल उम्र बढऩे के साथ सफेद होंगे या ग्रे अथवा दोनों का मिश्रण। ग्रे बालों के आने की कितनी संभावना है, इसे पहचानने के 40 से ज्यादा चिन्ह हैं लेकिन हम कुछ खास को ही यहां शामिल कर रहे हैं-
01. प्राकृतिक लाल बाल- ब्लोंड्स के अलावा प्राकृतिक रूप से लाल रंग के बालों वाली महिलाओं और पुरुषों के बाल उम्र के साथ ग्रे होने की संभावना सबसे अधिक होती है। ऐसा इसलिए क्योंकि इनके बालों में ही पहले से ही पिगमेंटेशन की कमी होती है।
02. कॉकेशियन मूल का होने पर- अगर आप मूल रूप से उत्तरी अमरीका या यूरोपीय मूल के हैं तो आपके बालों के ग्रे रंग का होने की संभावना अधिक है। शोध बताते हैं कि इस ब्लडलाइन से जुड़े लोगों के ग्रे बाल औरों की तुलना में जल्दी आते हैं। दूसरे स्थान पर एशियाई और तीसरे पर अफ्रीकी मूल के लोग आते हैं।

वे 12 लक्षण जो ग्रे बाल होने का इशारा करते हैं

03. कीमोथेरेपी होने पर- जिन महिलाओं या पुरुषों में कैंसर के लक्षण उभरते हैं उनमें ग्रे हेयर की संभावना भी होती है। नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी, फीनबर्ग स्कूल ऑफ मेडिसिन में ऐसोसिएट प्रोफेसर डॉ. रूपल कुंडू का कहना है कि कीमोथेरेपी लेने पर बालों का क्षरण होता है। लेकिन इससे उबरने पर दोबारा आने वाले बालों के ग्रे शेड होने की संभावना अधिक होती है।
04. लगातार तनाव में रहने पर- अगर आप लगातार तनाव में या अन्जाएटी डिस्ऑर्डर से गुजर रहे हैं तो बहुत मुमकिन है कि उम्र ढलने के साथ आपके बालों का रंग ग्रे हो जाए। स्ट्रेस से होने वाली टेलोजेन एफ्लूविअम की स्थिति बालों की प्राकृतिक ग्रोथ में रुकावट डालती है जिससे बालों का विकास चक्र गडबड़ा जाता है।
05. अधिक धूम्रपान करने पर- ऐसे बिजनेसमैन या कॉर्पोरेट सेक्टर से जुड़े लोग जो लोग धूम्रपान ज्यादा करते हैं उनके बालों का रंग भी ग्रे होने की अधिक संभावना है। स्मोकिंग की वजह से आने वाली झुर्रियों से खोपड़ी की त्वचा को नुकसान पहुंचता है जिसे बालों की जड़ें प्रभावित होती हैं। इंडियन डर्माेटोलॉजी ऑनलाइन जर्नल में प्रकाशित एक शोध के अनुसार स्मोकिंग करने वाले लोगों में ग्रे बालों की संभावना अन्य लोगोंकी तुलना में ढाई गुना ज्यादा होती है।

वे 12 लक्षण जो ग्रे बाल होने का इशारा करते हैं

06. खाने से सही न्यूट्रिशन न मिलना- अगर आपका खान-पान सही नहीं है और आपको बालों के लिए जरूरी सही पोषण नहीं मिल रहा है तो बहुत संभावना है कि आपके बाल बुढ़ापे में ग्रे रंग के हों। बालों की सेहत के लिए जरूरी विटामिन बी-12 की कमी इसका प्रमुख कारण होती है। शाकाहारियों में इस विटामिन की कमी सबसे ज्यादा होती है क्योंकि यह उेसरी प्रोउक्ट्स में ज्यादा पाया जाता है।
07. डायबिटीज, परनिशियस एनिमिया और थायरॉइड- वाले रोगियों में भी ग्रे बाल होने के अािधक चांस होते हैं। क्यांकि ये रोग सीधे हमारे बालों के रोम छिद्रों पर असर डालते हैं। पेरू की केयेटानो हेरेडिया विश्वविद्यालय, लीमा में हुए एक शोध के अनुसार बालों के रोम छिद्रों का कमजोर होना टाइप-२ डायबिटीज होने के सबसे शुरुआती लक्षणों में से एक है।

वे 12 लक्षण जो ग्रे बाल होने का इशारा करते हैं

08. माता-पिता के बाल जल्दी ग्रे होने पर- स्वस्थ्य जीवनशैली के बावजूद आपके बालों का रंग ग्रे हो सकता है अगर आपके माता-पिता, दोनों में से किसी एक के या करीबी रिश्तेदारों के बाल बहुत जल्दी ग्रे हो गए हों। नेचर कम्यूनिकेशन में प्रकाशित एक शोध के अनुसार शोधकर्ताओं ने बालों को ग्रे करने वाला प्राइमरी जीन आईआरएफ४ को भी ढूंढ लिया है। यही हमारे बालों के ग्रे रंग के लिए जिम्मेदार है।

09. सफेद दाग वाले लोगों में- जिन लोगों में सफेद दाग या विटिलीगो (Vitiligo) की परेशानी होती है उनमें भी स्किन की पिगमेंटेशन नष्ट होने के कारण बालों का रंग गे्र होने की संभावना बढ़ जाती है। लेकिन विटिलीगो में ग्रे बाल पूरे सिर पर न होकर खास पैटर्न में सिर के अलग-अलग हिस्सों में आते हैं। मेयो क्लिीनिक के अनुसार, ऐसा सफेद दाग के कारण सिर की त्वचा और उन कोशिकाओं पर होने वाले प्रभाव के कारण होता है जो मेलानिन हार्मोन का स्राव करती हैं। विम्पोल क्लिनिक के अनुसार एलोपेशिया एरियाटा के कारण भी दोबारा उगने वाले बालों का रंग ग्रे होने की आशंका रहती है।

वे 12 लक्षण जो ग्रे बाल होने का इशारा करते हैं

10. हृदय संबंधी बीमारी होने पर- यूरोपियन सोसायटी ऑफ कार्डियोलॉजी के अनुसार कार्डियावस्कुलर संबंधी बीमारी जैसे एथिरोसेलेरॉसिस (धमनियों का अकडऩा और सिकुडऩा) के चलते भी बालों के ग्रे होने का अंदेशा रहता है। यानी अगर आपको हृदय संबंधी कोई परेशानी होने का खतरा है या आपका ऐसा किसी बीमारी का पहले इलाज हो चुका है तो बहुत संभव है कि आपके बालों का रंग बुढ़ापे में ग्रे हो। वहीं अध्ययन सह भी बताता है कि अगर आपके बालों का रंग ग्रे है तो आपको हृदय संबंधी बीमारियों का जोखिम ज्यादा है। आमतौर पर पुरुषों में 30 साल और महिलाओं में 35 की उम्र में ग्रे-सफेद बाल दिखने लगते हैं।
11. किसी प्रकार के ट्रॉमा से गुजरने पर- साइंटिफिक अमरीकन के अनुसार अगर किसी व्यक्ति ने जीवन में कोई ट्रॉमैटिक घटना का अनुभव किया है तो उसके बालों का रंग ग्रे होने के चांस ज्यादा होते हैं। क्योंकि कोई ट्रॉमा आपके पूरे शरीर यहां तक की स्कैल्प और बालों के रोम छिद्रों को भी नष्ट कर सकता है। ऐसी किसी घटना से गुजरने पर उत्पन्न तनाव हमारे बालों के रोम में मुक्त कणों (रैडिकल्स) उत्पन्न करती है, जो हमारी बाल शाफ्ट के साथ जड़ों तक पहुंचकर पिगमेंटेशन को नष्ट कर देती है जिससे बालों पर ग्रे रंग का प्रभाव दिखाई देता है।

वे 12 लक्षण जो ग्रे बाल होने का इशारा करते हैं

12. धूप में बहुत समय तक रहने पर- एक पुरानी कहावत है कि ये बाल धूप में सफेद नहीं किए हैं। लेकिन यह सच है कि अगर आप बहुत ज्यादा समय तक सीधे धूप में रहते हें तो आपके बालों का रंग भूरा या ग्रे हो सकता है। दरअसल सूरज के प्रकाश में मौजूद अल्ट्रा वायलेट किरणें हमारे रोमछिद्रों को नुकसान पहुंचाती हैं। इससे बालों पर ब्लीचिंग इफेक्ट आ जाता है। इससे कमजोर होकर बाल टूटते हैं और नए आने वाले बालों का रंग बहुधा ग्रे होने की संभावना अधिक होती है।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/2OdmlcO

No comments

Powered by Blogger.